थायराइड होने में जीवनचर्या का बहुत महत्‍व व भूमिका है। यदि जीवनचर्या व खानपान संतुलित व नियमित नहीं है तो थायराइड हो सकता है। यदि खानपान पर विशेष ध्‍यान दिया गया तो थायराइड होने की आशंका बिल्‍कुल क्षीण हो जाती है। आज आपको इस पोस्‍ट के ज़रिये थायराइड का डायट चार्ट बताने जा रहे हैं। उम्‍मीद है कि यह पोस्‍ट थायराइड मरीज को काफ़ी लाभ पहुंचाएगा। आयोडीन, कॉपर, आयरन, विटामिन, मिनरल्‍स से युक्‍त भोजन थायराइड के मरीजों को लाभ पहुंचाते हैं। ये सब चीजें थायराइड की सक्रियता को बढ़ाती हैं। यदि थायराइड सक्रिय नहीं हैं या कम सक्रिय है तो बहुत से हार्मोन स्रवित नहीं होते और तमाम तरह की समस्‍याएं उत्‍पनन होती हैं।

thyroid patient

 

थायराइड क्‍या है

यह शरीर में एक बहुत ही छोटी लेकिन महत्‍वपूर्ण ग्रंथि है जो गले के निचले हिस्‍से में होती है। शरीर को स्‍वस्‍थ रखने में इसकी महत्‍वपूर्ण भूमिका होती है। इसका लक्षण शुरुआत में और एक साथ दिखता नहीं है इसलिए इसे साइलेंट किलर भी कहते हैं। सही से इसका इलाज न किया जाए तो यह मृत्‍यु का कारण भी बन जाता है। यह एक प्रकार की इंडोक्राइन ग्रंथि है जो कुछ हार्मोन के स्राव के लिए जिम्‍मेदार होती है। यह ग्रंथि जब ठीक से कार्य करना बंद कर देती है तो शरीर में असंतुलन उत्‍पन्‍न हो जाता है और कई तरह की समस्‍याएं पैदा होने लगती हैं। यह कम सक्रिय हो तब भी और अधिक सक्रिय हो तब भी शरीर को प्रभावित करती है।

Also Read – Cow Ghee Benefits in Hindi

थायराइड मरीज क्‍या खाएं

– आयोडीन की मात्रा समुद्री जीवों में सबसे अधिक पाई जाती है। इसलिए समुद्री शैवाल, सब्ज़ियों और मछलियों का प्रयोग करना चाहिए।

– कॉपर व आयरन थायराइड की सक्रियता को बढ़ाते हैं, इसलिए इन तत्‍वों के लिए काजू, बादाम व सूरजमुखी के बीजों तथा हरी पत्‍तेदार सब्ज़ियों का प्रयोग करना चाहिए।

– हरी मिर्च व पनीर भी थायराइड मरीज के लिए लाभकारी है।

थायराइड मरीज का आहार

– विटामिन व मिनरल्‍स के लिए थायराइड के मरीज को प्‍याज, लहसुन व मशरूम का ज्‍यादा सेवन करना चाहिए।

– गाय का दूध पीना चाहिए तथा कम वसायुक्‍त आइसक्रीम व दही का सेवन लाभदायक है।

नारियल का तेल थायराइड ग्रंथि की सक्रियता में वृद्धि करता है। इसलिए भोजन में नारियल तेल का प्रयोग करना चाहिए।

Also Read – Vegetable Salad Recipe in Hindi

क्या न खायें

– सोया व उससे निर्मित खाद्य पदार्थों का सेवन बिल्‍कुल न करें।

– जंक फूड व फास्‍ट फूड का सेवन करने से बचें।

– ब्रोकली व गोभी आदि का सेवन न करें, ये चीजें थायराइड ग्रंथि की सक्रियता को प्रभावित करती हैं।

जीवनशैली

– नियमित व्‍यायाम व योगा आदि करें, सुबह टहलें।

– नियमित चिकित्‍सक के संपर्क में रहें।