वर्तमान समय में जहां लोग अपने स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति सचेत हुए हैं, वहीं बीमा कंपनियों ने लोगों को इस दिशा में व्‍यापक सुरक्षा प्राप्‍त करने का मौक़ा उपलब्‍ध कराया है। अनेक कंपनियाँ आम आदमी को स्वास्थ्य बीमा उपलब्‍ध कराने के लिए विभिन्‍न साधनों का इस्‍तेमाल कर रही हैं। बैंकों ने भी स्वास्थ्य बीमा की योजनाएँ उपलब्‍ध हैं। इसके लिए बैंक व बीमा कंपनियाँ लगातार लोगों को जागरूक कर रही हैं। पहले स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत इमरजेंसी में किसी अस्‍पताल में भर्ती हो होकर दवा कराने और उसके बिल का भुगतान संबंधित कंपनी से लेने की सुविधा थी, यह सुविधा आज भी है लेकिन अब इस योजना के तहत बीमा कपंनियों व बैंकों ने अनेक सुपर स्‍पेशियल्‍टी हॉस्पिटल से टाइअप कर लिया है। इन अस्‍पतालों में स्वास्थ्य बीमा धारक को कैसलेस इलाज की सुविधा दी जा रही है। यह ज़्यादा बेहतर है।

जीवन बीमा
Health Insurance, Jeevan Bima

स्वास्थ्य बीमा योजना का चुनाव

बाज़ार में कई तरह की बीमा कंपनियाँ _ Insurance Companies और बैंक अपने-अपने स्वास्थ्य बीमा का उत्‍पाद आकर्षक ढंग से पेश कर रहे हैं। जब आप स्वास्थ्य बीमा अपना या अपने पूरे परिवार का कराना चाहते हैं तो सबसे पहले प्रमुख बैंकों व बीमा कंपनियों की स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्‍त करें। उसमें देखें कि कौन सी पॉलिसी ज़्यादा सस्‍ती और अधिक कवरेज देने वाली है। माना कि कोई पॉलिसी बहुत सस्‍ती है और बहुत ज़्यादा धनराशि की दवा कराने की सुविधा दे रही हैं लेकिन उसका टाइअप आपके शहर के सुपर स्‍पेशियलिटी या प्रमुख चिकित्सा संस्‍थानों से नहीं है तो ऐसी पॉलिसी आपके लिए ज़्यादा उपयुक्‍त नहीं रहेगी। क्‍योंकि यह पॉलिसी लेने के बाद ज़रूरत पड़ने पर दवा कराने के लिए आपको अपने पास से पैसे ख़र्च करने पड़ेंगे।

अपने पैसे से दवा कराने के बाद जब आप बिल प्रस्‍तुत करते हैं तो बीमा कंपनियाँ उसकी बहुत सारी जांच-पड़ताल करती हैं और संभव जितना आपने ख़र्च किया है, उतना न मिले, हो सकता है पूरा मिल भी जाए तो इसके लिए काफी भागदौड़ करनी पड़ सकती है। इसलिए कैसलेस इलाज _ Cashless Treatment की सुविधा जिस योजना में हो वह पॉलिसी लेना आपके लिए हितकर है। वही पॉलिसी लेनी चाहिए जिसमें आपके शहर के प्रमुख चिकित्‍सा संस्‍थानों से टाइअप हो ताकि आप नि:शुल्‍क इलाज करा सकें। दूसरी बात यह ध्‍यान रखनी चाहिए कि कितने तक की पॉलिसी आपके जीवन की सुरक्षा करने में समर्थ हो सकती है। आमतौर पर वर्तमान में चल रही गंभीर बीमारियों के इलाज के ख़र्च को देखकर यह निर्णय लेना चाहिए।

स्वास्थ्य बीमा के प्रकार

स्वास्थ्य बीमा मुख्‍यत: दो प्रकार का होता है। एक व्‍यक्तिगत व दूसरा पारिवारिक। व्‍यक्तिगत बीमा में एक व्‍यक्ति का बीमा होता है और पारिवारिक बीमा में पूरे परिवार का बीमा किया जाता है। परिवार में पति- पत्‍नी व दो बच्‍चे शामिल होते हैं। व्‍यक्ति, परिवार व कवरेज के हिसाब से बीमा का प्रीमियम तय होता है। कुल मिलाकर स्वास्थ्य बीमा कराना सभी के लिए आवश्‍यक है। जिस तरह वर्तमान दौर में बीमारियों का प्रकोप बढ़ा है और दवाएँ महंगी हुई हैं, ऐसे में स्वास्थ्य बीमा जीवन को सुरक्षा चक्र प्रदान करता है।

Keywords – Health Insurance Policy, Swasthya Bima Policy, Rashtriya Swasthya Bima Yojna, Rashtriya Swasthya Bima Yojna Hindi