सुडौल स्‍तन महिलाओं के सौंदर्य का एक हिस्‍सा हैं। स्‍तनों के आकार जब शरीर के अनुपात में छोटे होते हैं तो सौंदर्य प्रभावित होता है। जिन महिलाओं के स्तनों का आकार उनके शरीर के अनुपात में होता है, उनका सौंदर्य निखर जाता है। इसे लेकर महिलाएं शुरू से जागरूक रही हैं। आजकल जब नई तकनीक ने समय का साथ देना शुरू किया है तो युवतियाँ सर्जरी के द्वारा भी अपने स्तनों का आकार बढ़ाने लगी हैं। इस समय इसके लिए सिलिकान जेल आरोपण को सबसे उत्‍तम उपाय माना जाता है।

स्तनों का आकार लेना
Homeremedies to increase breast size

स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए आहार

– स्‍तनों के छोटा होने का मुख्‍य कारण हार्मोनल असंतुलन है। शरीर में अत्यधिक टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) का उत्पादन होने लगता है जो स्‍तनों की वृद्धि प्रभावित करता है। फल व हरी सब्ज़ियाँ टेस्‍टोस्‍टेरोन के उत्‍पादन को कम करती हैं, इसलिए इनका प्रयोग ज्‍यादा करना चाहिए। साबुत अनाज- जौ, ब्राउन राइस, व जई का सेवन स्तनों का आकार बढ़ाने में मदद करता है।

– चिकन, दूध, दही, पनीर, छोला, लाल राजमा, मटर, सेम व मसूर में मौजूद एस्‍ट्रोजन स्तनों का आकार बढ़ाने में सहायक है, इसलिए भोजन में इनका का प्रयोग करना चाहिए।

– प्रोटीन व विटामिन इसके लिए काफी मददगार होते हैं। जिसमें प्रोटीन व विटामिन मिलते हैं जैसे हरी पत्‍तेदार सब्ज़ियाँ, चुकंदर, फूलगोभी, गाजर, ककड़ी, फलियाँ, प्‍याज, कद्दू आदि का सेवन करने से स्‍तनों की कोशिकाओं का विकास होता है।

Diet to Increase Breast Size

Silicon Gel to Increase Breast Size
Silicon Gel to Increase Breast Size

– दूध, मांस, मछली, अंडा आदि में प्रोटीन पर्याप्‍त मात्रा में पाया जाता है, इनका सेवन भी स्‍तनों को प्राकृतिक रूप से बढ़ाने में मददगार होता है।

– जामुन, चेरी, स्‍ट्रॉबेरी में एस्‍ट्रोजन पाया जाता है। इन्‍हें अपनी डाइट में शामिल कीजिए।

– बादाम, भुट्टा, सेब, लहसुन, अदरक, ब्राउन राइस, अखरोट व प्रॉन में मैग्‍नीशियम व ब्रोमाइन पाया जाता है, इसका सेवन स्तनों का आकार बढ़ाने में लाभप्रद है।

– स्तनों का आकार बढ़ाने के लिए तिल का बीज उपयोगी है। साथ ही शरीर में पानी की कमी न होने दें। कैफीन, कार्बोनेटेड ड्रिंक, नमकीन व जंक फूड का इस्‍तेमाल कम करना चाहिए।

Useful Tips to Weight Gain

औषधि का प्रयोग

हर्बल ब्रेस्‍ट इंहैन्‍समेंट पिल स्तनों का आकार बढ़ाने की यह कारगर औषधि है। इसमें मेथी, सौंफ, दामियाना आदि हर्ब होते हैं। जब लड़कियाँ युवावस्‍था में कदम रखती हैं तब यह दवा अपना असर दिखाना शुरू करती है। दो-तीन माह के भीतर इस दवा का असर दिखने लगता है। इस दवा के साथ यदि हर्बल ब्रेस्‍ट इंहैन्‍समेंट लोशन का प्रयोग व व्‍यायाम भी करें तो परिणाम ज्‍यादा अच्‍छे आते हैं।

Breast measurement
Herbal medicines to increase breasts size

स्तनों का आकार बढ़ाने वाला तेल

जैतून, कड़वे बादाम व काशीशादि का 100-100 ग्राम तेल लें। तीनों को मिलाकर स्‍तनों पर हल्‍के हाथ से गोलाई में मालिश करें। दो-तीन महीनों का इसका प्रभाव दिखने लगता है और यह प्रभाव स्‍थायी रहता है।

ढीले स्‍तनों को ठीक करें

पीपर 125 ग्राम, असगंध नागौरी 500 ग्राम व सोंठ 250 ग्राम लेकर बारीक पीस लें। इसके बाद दो किलो शहद, आधा किलो गाय का दूध व पांच किलो भैंस का दूध, आधा किलो मिश्री मिलाकर कड़ाही में धीमी आंच पर पकाएं। जब खोवा जैसा बनने लगे तो पहले पीसे हुए मिश्रण को इसमें मिलाकर हल्‍के हाथ से चलाते हुए भून लें। जब सुगंध आने लगे तो उसमें लौंग, तज, काली मिर्च व छोटी इलायची का चूर्ण 10-10 ग्राम मिलाकर थोड़ा चलाने के बाद आग से उतार लें। अब इनका 20-20 ग्राम का लड्डू बना लें। एक-एक लड्डू सुबह-शाम दूध के साथ चार से छह माह तक सेवन करने से ढीले हो चुके स्‍तनों में कसाव आने लगता है, साथ ही प्रदर, कमजोरी व कमर दर्द आदि रोग विदा हो जाते हैं।