पायरिया रोग दांतों की एक आम समस्‍या है। ख़ासकर दांतों की सही देखभाल न होने से यह रोग हो जाता है। इस रोग में मसूढ़े ख़राब हो जाते हैं। दांतों से पस व खून आने लगता है, मुंह बदबू करने लगता है। यदि इसका इलाज न किया गया तो दांत गिरने लगते हैं और असमय ही सभी दांत चले जाते हैं, जो बचते भी हैं काफी कमज़ोर हो जाते हैं। आज हम पायरिया रोग को ख़त्‍म करने के लिए कुछ घरेलू मंजन बनाने की विधि बता रहे हैं। इनके प्रयोग से पायरिया जड़ से चला जाएगा।

पायरिया रोग का घरेलू उपचार

पायरिया रोग का उपचार
Pyorrhea treatment

1. तंबाकू का मंजन

तवे पर सादा तंबाकू काला होने तक भून कर कपड़छन बारीक चूर्ण तैयार कर लें। जितना तंबाकू हो उसका आधा सेंधा नमक व आधा फिटकरी पीसकर उसमें मिला लें। कपड़े से तीन बार छान कर किसी शीशी में भरकर रख दें। सुबह मंजन करने के समय में इसमें थोड़ा सा चूर्ण ह‍थेली पर रखें और उसमें चार-पांच बूंद नींबू का रस डाल कर मिला लें। इससे मसूढ़ों व दांतों को हल्‍के हाथ से मलें। यह प्रयोग रात को भी सोने से पहले करें तो शीघ्र लाभ होगा। दो-तीन माह के प्रयोग से ही पायरिया रोग विदा हो जाएगा और मसूढ़े स्‍वस्‍थ और दांत मजबूत हो जाएंगे। जो तंबाकू का सेवन नहीं करते हैं उन्‍हें यह मंजन नहीं करना चाहिए, चक्‍कर आ सकता है, बच्‍चों को भी यह मंजन नहीं देना चाहिए।

2. नीम का मंजन

नीम के सूखे हुए पत्ते लें या फिर उन्‍हें छाया में सुखा कर साफ़ कर लें। एक बर्तन में रखकर उन्‍हें जला दें। इसको पीसकर कर कपड़े से छान लें। राख के बराबर इसमें सेंधा नमक पीसकर मिला दें और किसी शीशी में भरकर रख लें। इस मंजन से दिन में तीन-चार बार उंगली से दांतों व मसूढ़ों को हल्‍के हाथ से मलें और कुल्‍ला कर लें। कुछ ही दिनों में पायरिया रोग ठीक हो जाएगा।

3. हल्‍दी-नमक का मंजन

एक चुटकी नमक, एक चुटकी हल्‍दी हथेली पर रख लें और उसमें चार-पांच बूंद सरसों का तेल डालकर अच्‍छी तरह से मिला लें। इसे उंगली से दांतों पर लगाएं और बीस मिनट के लिए छोड़ दें। लार आए तो थूकते रहें। कहा जाता है कि इससे पायरिया एक ही दिन में ठीक हो जाता है, बहुत पुराना है तो तीन दिन लगते हैं।

4. प्‍याज का टुकड़ा

तवे पर प्‍याज का टुकड़ा गर्म कर लें और दांतों के नीचे दबाकर मुंह बंद कर लें। जब मुंह में लार इकट्ठी हो जाए तो उसे मुंह में चारों तरफ़ घुमाएं। दिन में ऐसा चार-पांच बार करने से कुछ ही दिन पायरिया रोग जड़ से खत्‍म हो जाता है और मसूढ़े मजबूत हो जाते हैं।

5. कुछ अन्‍य प्रयोग

कच्चा अमरूद लें और उसे नमक के साथ खाएं। पायरिया में आराम मिलेगा। इसमें मौजूद विटामिन सी दांतों को मजबूत करता है।

– कपूर व घी मिलाकर दांतों पर मलने से लाभ होता है।

– नमक व काली मिर्च मिलाकर दांतों पर मलने से पायरिया में लाभ होता है

– आंवला जला लें और उसे सरसों के तेल में मिलाकर मसूढ़ों पर धीरे-धीरे मलें।

– दालचीनी, जीरा, सेंधा नमक, दक्षिणी सुपारी व हरड़ मिलाकर किसी बंद बर्तन में जलाकर मंजन बना लें। इसका नियमित प्रयोग पायरिया से छुटकारा दिला देता है।