पेट में गैस बनना आजकल आम समस्‍या है। अत्‍यधिक भोजन, शराब का सेवन, अपच, चिंता, किसी भी प्रकार का ज्‍वर, संक्रमण, ट्यूमर, अल्‍सर आदि इसके कई कारण हो सकते हैं। गैस बनने पर उल्‍टी, दस्‍त, सिर दर्द, पैर में दर्द तथा पेट, सीने व गले में जलन हो सकती है। खट्टी डकार आती है। प्रारंभिक दौर में इसका इलाज करा लेना बेहतर होता है, बाद में समस्‍या जटिल हो जाती है।

पेट में गैस का इलाज

पेट में गैस हो तो करें ये घरेलू उपाय

– अजवाइन व काला नमक समान मात्रा में लेकर पीस लें और किसी शीशी में रख लें। पेट में गैस बनने पर 3 ग्राम चूर्ण खाकर गुनगुना पानी पी लें। आराम मिलेगा।

– एक-एक चम्‍मच अरंडी का तेल व दूध मिलाकर पीने से पेट दर्द से राहत मिलती है, ख़ासकर उस दर्द से जो पेट में वायु का गोला उठने से होता है।

– भोजन के साथ टमाटर पर काला नमक डालकर सेवन करने लाभ मिलता है।

– आधा चम्‍मच अदरक पाउडर, एक चुटकी हींग व काला नमक मिलाकर खाने से तुरंत लाभ मिलता है।

– पेट में गैस की वजह से होने वाले सिरदर्द में काली मिर्च की चाय पीने से लाभ मिलता है।

पेट की गैस भगाने के अन्य उपाय

– भोजन के बाद नींबू के रस में भीगी हुई अदरक चूसने से लाभ होता है।

– एक चम्‍मच अजवाइन में थोड़ा नमक मिलाकर गर्म पानी के साथ खाने से पेट व आंतों का दर्द चला जाता है।

– भोजन के एक घंटे बाद एक-एक चम्‍मच काली मिर्च, सूखी अदरक व इलायची के दानों को आधा चम्‍मच पानी में मिलाकर खाने से लाभ मिलता है।

– मधु के साथ हरड़ का चूर्ण खाने से भी पेट में गैस की समस्‍या दूर होती है।

– अजवाइन, जीरा, छोटी हरड़ व काला नमक समान मात्रा में लेकर पीस लें। भोजन के तुरंत बाद दो से छह ग्राम तक पानी के साथ लेने से लाभ होता है।

– अदरक पर नमक छिड़ककर दिन में कई बार खाने से पेट में बना गैस ख़त्‍म हो जाता है।

पेट का दर्द गैस के कारण

इनसे बचें – परहेज़

यदि आप चाहते हैं कि आपके पेट में गैस न बने और उससे उत्‍पन्‍न होने वाले उपद्रव से आप बच सकें तो कुछ सावधानी बरतनी होगी।

– खुले में रखी खाने वाली चीज़ों का सेवन न करें।

– संक्रमित स्‍थानों पर रखे खाद्य पदार्थों के सेवन से परहेज़ करें।

– जल्‍दीबाज़ी में भोजन न करें, खूब चबा-चबाकर खाएं।

– चटपटे भोजन या नाश्‍ते से बचें।

– मिर्च-मसाला, खटाई व तेल-घी का उपयोग कम से कम करें या न करें।

यह भी जानें

– दांतों को मज़बूत व चमकीला बनाने के लिए नींबू का छिलका लें और उसपर दो बूंद सरसों का तेल डालकर दांतों को घिसें। इससे मसूढ़े भी स्‍वस्‍‍थ रहेंगे।

– हल्‍दी व मेथी दाना 100-100 ग्राम तथा आंवला 200 ग्राम मिलाकर पीस लें और शीशी में भरकर रख लें। इसे नियमित पांच-पांच ग्राम दिन में दो बार गुनगुने पानी के साथ लेने से कंधे, घुटने, कमर व जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है।

Keywords – Gastritis Problem, Stomach Gas Problem, Stomach Pain, Stomach Problem