शहर का कोई इलाक़ा हो, मच्‍छरों का प्रकोप हर जगह है। यह सोने तो नहीं ही देते, इनके काटने से बहुत सारी बीमारियां हो जाती हैं। बहुत सारी बीमारियों को ये दूसरे से लाकर हमारे शरीर में डाल देते हैं। इन्‍हें दूर करने के लिए आमतौर पर लोग मॉस्किटो रिप्लीयंट क्रीमहर्बल मॉस्किटो लोशन का प्रयोग करते हैं, किसी-किसी को इससे एजर्ली हो जाती है। इन्‍हें दूर भगाने के लिए आज कुछ प्राकृतिक उपाय आपको बताने जा रहा हूं, कुछ ऐसे मच्छर भगाने वाले पौधे या मॉस्किटो रिप्लेंट प्‍लांट्स के बारे में बताऊंगा जो न सिर्फ़ आपके बगीचे की शोभा बढ़ाएंगे बल्कि मच्‍छरों को भी दूर भगाएंगे।

मच्छर भगाने वाले पौधे

10 मच्छर भगाने वाले पौधे

1. रोज़मेरी (Rosemary)

इस पौधे में नीले फूल होते हैं। इनकी ऊंचाई अधिकतम चार-पांच फ़ीट होती है। गर्मी के मौसम में इनकी वृद्धि होती है, ठंडी में ये ख़त्‍म हो जाते हैं। इन्‍हें गमले में उगाकर घर के अंदर रखा जा सकता है। इनका इस्तेमाल मौसमी कुकिंग के लिए भी किया जाता है।

2. गेंदा (Marigold)

गेंदा के फूलों की गंध मक्‍खी-मच्‍छरों को दूर भगाती है। इसके पौधों की ऊंचाई छह इंच से तीन फ़ीट तक होती है। इसके अफ्रीकन व फ्रेंच दो तरह के पौधे होते हैं, ये दोनों ही मच्‍छरों को दूर भगाते हैं। इनसे कीड़े भी दूर रहते हैं। इनकी वृद्धि के लिए धूप आवश्‍यक है।

3. सिट्रोनेला ग्रास (Citronella Grass)

इसकी लंबाई लगभग दो मीटर तक होती है। इससे निकलने वाला सिट्रोनेला ऑयल मोमबत्तियों, परफ़्यूम्स, लैम्प्स आदि हर्बल उत्‍पादों में प्रयोग किया जाता है। यह डेंगू पैदा करने वाले मच्छरों को भी दूर भगाता है। सिट्रोनेला ऑयल को बगीचे में कैंडल्स व लालटेन में छिड़क देना चाहिए। सिट्रोनेला ग्रास में जीवाणु रहित तत्व पाए जाते हैं, यह त्‍वचा के लिए भी सुरक्षित है।

4. कैटनिप (Catnip)

इसका पौधा पुदीना जैसा होता है। यह बारहमासी है। धूप व आंशिक छाया में इसकी वृद्धि होती है। एक अध्ययन के अनुसार यह डीईईटी से 10 गुना ज़्यादा असरकारक है। फूल सफ़ेद व लॅवेंडर जैसे रंग के होते हैं। इसे घर के पिछडवाड़े या छत पर लगाया जा सकता है। इसकी सुगंध बिल्लियों को आकर्षित करता है। यह मच्‍छरों को दूर भगाता है। इसकी पत्तियां मसलकर त्‍वचा पर लगाया जा जा सकता है।

5. एग्रेटम प्लांट (Agretm)

इसके फूल सफ़ेद व हल्‍के नीले रंग के होते हैं। यह कौमारिन नामक भयंकर गंध पैदा करता है जिससे मच्‍छर दूर भागते हैं। इसे त्‍वचा पर नहीं रगड़ना चाहिए, इसमें कुछ ऐसे तत्‍व होते हैं जो त्‍वचा को नुक़सान पहुंचा सकते हैं। इन्‍हें गर्मियों में ऐसी जगह लगाना चाहिए जहां सूर्य की पूरी रोशनी मिलती हो।

6. हॉर्समिंट (Horsemint)

यह बारहमासी पौधा है, लगा देने के बाद इसके विशेष देखभाल की ज़रूरत नहीं रहती। ये पौधे गर्मी में रेतीली जमीन में उगते हैं। इसकी गंध सिट्रोनेला जैसी ही होती है इसे फूल गुलाबी और इसके तेल में थाइमोल जैसे एक्टिव इंग्रीडेंट मौजूद हैं जो कवक और बैक्टीरिया के दुश्‍मन हैं। मच्‍छरों को दूर भगाने के साथ ही इसका उपाय बुखार में भी किया जाता है।

7. नीम (Neem)

नीम में कीड़े-मकोड़ों व मच्‍छरों को दूर भगाने के गुण मौजूद हैं। इसकी पत्तियों को जला देने के बाद मच्‍छर भाग जाते हैं। नीम का तेल भी केरोसीन लैंप और सिट्रोनेला फ्लेर्स में प्रयोग कर सकते हैं। त्‍वचा पर भी लगा सकते हैं। नीम मलेरिया की रोकथाम भी करता है।

8. लैवेंडर (Lavender)

यह पौधा आसानी से उग जाता है। इसके लिए धूप ज़रूरी है। इसकी ऊंचाई चार फ़ीट होती है। केमिकल मुक्‍त मॉस्किटो सोल्युशन बनाने के लिए लैवेंडर ऑयल को पानी में मिलाकर सीधे त्‍वचा पर लगाया जा सकता है। लैवेंडर ऑयल का प्रयोग गर्दन, कलाई व घुटनों पर भी किया जा सकता है।

9. तुलसी का पौधा (Tulsi plant)

घर में गमले में तुलसी का पौधा लगा देने से मच्‍छर नहीं आते हैं। इसकी पत्तियों को मसलकर त्‍वचा पर भी लगाया जा सकता है।

10. लेमन बाम (Lemon balm)

यह पौधा बड़ी तेज़ी से बढ़ता है। यह मच्‍छरों को दूर रखने में सहायक है। इसे कमरे में लगाया जाता है। इसकी कुछ प्रजातियों की पत्तियों में 38 प्रतिशत सिट्रोनेला ऑयल होता है, जिससे मच्‍छर दूर भागते हैं। इसकी पत्तियों को मसलकर त्‍वचा पर भी लगाया जा सकता है।

ये 10 मच्छर भगाने वाले पौधे लगाकर आप मच्छरों से होने वाली बीमारियों से बचने का पहला चरण तो पूरा कर ही सकते हैं।