आयुर्वेद में शहद यानि मधु को अमृत कहा गया है। इसका नियमित सेवन शरीर को स्वस्थ व निरोग बनाता है। शरीर में हर क्षण स्‍फूर्ति बनी रहती है। शरीर ऊर्जावान रहता है। शरीर को पर्याप्‍त मात्रा में पोषक तत्‍व मिल जाते हैं जो कभी थकान नहीं लगने देते। किसी भी मौसम में शहद का सेवन करें, लाभ ही होता है लेकिन ठंडी के मौसम में इसका सेवन विशेष लाभकारी है।

नियमित रूप से मधु का सेवन मोटे लोगों का मोटापा नहीं बढ़ने देता और दुबले लोगों का शरीर स्‍वस्‍थ, सुंदर व सुडौल बना देता है। कभी ऊर्जा की कमी भी नहीं होने देता। शरीर में हमेशा ताज़गी बनी रहती है। इसका सेवन रोगी करे तो शीघ्र स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होता है।

प्राकृतिक शहद
Natural honey

शहद में भरपूर औषधीय गुण पाए जाते हैं। ये गुण हमारे शरीर की तमाम तरह की विषमताओं व विकारों का नाश कर हमें अनेक प्रकार की पीड़ा से मुक्ति दिला देते हैं। मधु का भिन्‍न-भिन्‍न प्रकार से प्रयोग कर हम अनेक बीमारियों को दूर भगा सकते हैं और बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य पा सकते हैं। अलग-अलग चीज़ों के साथ सेवन से इसका गुण धर्म भी अलग-अलग हो जाता है।

शहद के प्रयोग

हनी के नियमित सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ती है। कफ व अस्‍थमा ठीक हो जाता है। उच्‍च रक्‍तचाप नियंत्रित रहता है। मधु खून को शुद्ध भी करता है और दिल को मजबूत करने में भी सहायक है। आज हम शहद के कुछ गुण आपको देने जा रहे हैं। विभिन्‍न चीज़ों के साथ इसका सेवन कर आप विभिन्‍न बीमारियों को दूर भगा सकते हैं।

आंखों की रोशनी

गाजर के जूस के साथ शहद लेने से आंखों की रोशनी बढ़ती है। भोजन करने से एक घंटा पूर्व इसका सेवन करना चाहिए। इसके अलावा भी यह अनेक प्रकार के रोगों से आपको निजात दिलाता है। इसके नियमित प्रयोग से मोतियाबिंद जैसी बीमारियां भी दूर हो जाती हैं।

कब्‍ज

यदि आप कब्‍ज से परेशान हैं और किसी भी पैथी की दवा कारगर नहीं हो रही है, दवा कराते-कराते आप तंग आ चुके हैं तो यह नुस्‍खा आजमाएं। टमाटर या संतरे के जूस में एक चम्‍मच मधु का सेवन शुरू करें। कुछ दिन नियमित प्रयोग से कब्‍ज़ की समस्‍या तो दूर होगी ही, शरीर को भी बल व स्‍फूर्ति मिलेगी। हमेशा ताज़गी बनी रहेगी।

Shahad, Madhu, Honey
Shahad, Madhu, Honey

मधु के कुछ अन्‍य प्रयोग

– मसूढ़ों पर मधु मलने से पायरिया की आशंका समाप्‍त हो जाती है।

– छोटे बच्चों को शहद चटाने के बाद दूध पिलाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

– शहद को बेसन या मलाई में मिलाकर लगाने से चेहरे की त्‍वचा की चमक बढ़ जाती है। लगाने के कुछ देर बार धो लें।

– दूध के साथ प्रतिदिन 25 ग्राम मधु लेने से शरीर को ताकत मिलती है।

– जलने-कटने या त्‍वचा संबंधी रोगों पर शहद लगाने से चमत्‍कारी लाभ होता है।

– रात को सोने से पहले दूध के साथ मधु का सेवन करें, बहुत अच्‍छी नींद आएगी।

– दूध में शहद मिलाकर पीने से पेट में गैस नहीं बनती और पेट के कीड़े भी बाहर निकल जाते हैं।

– यदि जुकाम हो गया है तो थोड़ा सा शहद गर्म पानी में डालकर उसका भांप लें और उसी से कुल्‍ला करें, आराम मिलेगा।