छिलके के गुण : फलों में पोषक तत्‍व होते हैं, विटामिंस मिलते हैं। वे विभिन्‍न प्रकार के औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। लेकिन आपको यह जानकर आश्‍चर्य होगा कि फलों-सब्ज़ियों के छिलकों में भी चमत्‍कारी औषधीय गुण विद्यमान हैं जिन्‍हें हम अनुपयोगी समझकर फेंक देते हैं। ये सौंदर्य में तो वृद्धि करते ही हैं, अनेक बीमारियों से बचाते और निजात भी दिलाते हैं। आज हम आपको इन छिलकों के चमत्‍कारी औषधीय गुणों के बारे बताएंगे, इनका उपयोग कर आप अनेक प्रकार की बीमारियों से निजात पा सकते हैं।

छिलके के गुण

अनार के छिलके के गुण

– अनार के सूखे छिलके को पीसकर एक चम्‍मच पानी के साथ लेने से मासिक धर्म के दौरान अधिक स्राव की समस्‍या ख़त्म हो जाती है।

– बवासीर के लिए अनार का छिलका लें और उसका चार भाग रसौत व आठ भाग गुड़ मिलाकर कूट लें। इसकी छोटी-छोटी गोलियां बना लें। इन गोलियों का नियमित कुछ दिन तक सेवन करने से बवासीर से मुक्ति मिलती है।

– बहुत ज़्यादा खांसी आ रही है तो अनार के छिलके को मुंह में रखकर चूसने से उसकी तीव्रता चली जाती है।

– बालों को मुलायम रखने के लिए अनार को महीन पीसकर उसमें दही मिलाकर बालों में लगाया जाता है।

काजू के छिलके के गुण

तलवा यदि फटा है तो काजू के छिलके से तेल निकालकर लगाने से आराम मिलता है।

बादाम के छिलके के गुण

दांतों का हर तरह का कष्‍ट दूर करने, दांतों को मजबूत बनाने और मसूढ़ों को स्‍वस्‍थ रखने के लिए बादाम का छिलका कारगर है। बादाम का छिलका, बबूल की फली का छिलका व बीज को जलाकर पीस लें और उससे मंजन करें।

नारियल के छिलके के गुण

दांतों को साफ व चमकीला बनाने के लिए नारियल के छिलके को जलाकर पीसकर मंजन करने से लाभ होता है।

Santare ka chhilka
Santare ka chhilka

नारंगी के छिलके के गुण

खून साफ करने के लिए नारंगी के छिलके को दूध में छानकर नियमित सेवन करने से फ़ायदा होता है।

पपीते के छिलके के गुण

मुंह की खुश्‍की दूर करने के लिए पपीते के छिलके को धूप में सुखाकर बारीक़ पीस लें और उसमें मिलाकर चेहरे पर लगाएं।

आलू के छिलके के गुण

चेहरे की झुर्रियां ख़त्म करने के लिए और उनकी रोकथाम करने के लिए आलू का छिलका चेहरे पर रगड़ने से लाभ होता है।

लौकी के छिलके के गुण

यदि दस्‍त आ रहा है तो लौकी का छिलका बारीक़ पीस लें और पानी के साथ पीयें। तत्‍काल लाभ मिलेगा।

तोरई के छिलके के गुण

त्‍वचा साफ करने के लिए तोरई का ताज़ा छिलका रगड़ने से लाभ होता है।

इलायची के छिलके के गुण

चाय में चाय की पत्‍ती और चीनी के साथ इलायची का छिलका भी डाल दें तो चाय स्‍वादिष्‍ट हो जाती है।

संतरे के छिलके के गुण

मुहांसे व चेहरे के धब्‍बों को दूर करने के लिए संतरे के छिलके को दूध में पीसकर छान लें। इसे कच्चे दूध व हल्दी में मिलाकर लगाने से फ़ायदा होता है और त्‍वचा में चमक आती है।

तरबूज के छिलके के गुण

तरबूज के छिलकों को जलाकर राख बना लें, इसे सरसो के तेल में मिलाकर लगाने से दाद, एक्‍जीमा आदि दूर भाग जाते हैं।

नींबू के छिलके के गुण

– दांतों को चमकदार व मसूढ़ों को मजबूत बनाने के लिए नींबू का छिलका दांतों पर रगड़ने से फ़ायदा होता है। इसे कुछ देर जूतों पर रगड़ें और धूप में सुखा दें तो पालिश करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

– नींबू व संतरा के छिलकों को सुखाकर दांतों पर रगड़ने से दांतों में चमक आती है।

नींबू के फायदे

कुछ अन्‍य छिलकों के गुण

– कब्‍ज दूर करने के लिए खरबूज को छिलका सहित खा सकते हैं।

– घर में खीरे का छिलका रख दें तो कीट-पतंगे व झींगुर नहीं आएंगे।

– त्‍वचा पर पपीता का छिलका लगाने से खुश्‍की दूर होती है और त्‍वचा में निखार आता है। एड़ियों पर लगाने से एड़ियां मुलायम रहती हैं।

– चोट लगने पर खून निकल रहा हो तो केले का छिलका रगड़ देने से खून का निकलना बंद हो जाता है।

– कच्‍चे केले व मटर के मुलायम छिलकों से बनाई गई सब्‍ज़ी ज़ायकेदार होती है।

– चुकंदर व टमाटर के छिलकों को चेहरे पर लगाने से सौंदर्य व होठों की लालिमा में वृद्धि होती है।

– करेले के छिलके अलमारी में रखने से कीट नहीं आते हैं।

– पेट रोगों में तोरी व घीया की सब्‍ज़ी लाभ पहुंचाती है।