बालतोड़ अपने आप में कोई रोग न होने के बावजूद परेशान बहुत करता है। शरीर में विशेषकर चेहरे और पैरों के बाल ग़लत ढंग से टूट जाने पर वह फोड़े का रूप ले लेता है। पहले वहां लाल होगा, फिर पिरकी निकलेगी और उसके बाद फोड़ा बन जाएगा। यह दर्द भी बहुत करता है और ठीक भी बहुत मुश्किल से होता है। इसमें पस बनने लगता है, जब पस बनता है तो इसका दर्द बेहिसाब हो जाता है। बेचैनी बढ़ जाती है। आप चिकित्‍सक के पास जाएंगे तो चीरा लगाएगा, चीरा लगाने के बाद दवा देने पर यह धीरे-धीरे ठीक होने लगता है। लेकिन आज हम बालतोड़ के फोड़े के लिए कुछ घरेलू नुस्‍खे बताने जा रहे हैं, जिसके प्रयोग से आसानी से बालतोड़ को ठीक किया जा सकता है।

बालतोड़ का फोड़ा

बालतोड़ का घरेलू उपचार

– यदि बालतोड़ होने से अभी छोटी पिरकी दिख रही है तो गेहूं के पंद्रह दाने लें और चबाकर कर उसे प्रभावित वाली जगह पर लगा दें। इससे कुछ ही दिन में बालतोड़ का फोड़ा ठीक हो जाता है।

– बालतोड़ पर नीम के पत्तों को पीसकर लगाने से भी राहत मिलती है। नीम के कोमल पत्‍ते तोड़ लाएं और उसे पीसकर रात को सोते समय प्रभावित स्थान पर लगाकर साफ कपड़े से बांधकर सो जाएं। सुबह उठकर पट्टी हटाकर गर्म पानी से धुल लें। यदि नीम की पत्ती डालकर गर्म किया गया पानी है तो अधिक लाभकारी होगा। यदि दिन में कहीं जाना नहीं है तो स्‍नान आदि करने के बाद पुन: यही दवा एक बार बांध लें। दो दिन में ही इस फोड़े से निजात मिल जाएगी।

– एक चम्‍मच मैदा देशी घी में मिलाकर आग पर पका लें और इसे फोड़े वाली जगह पर रात को सोते समय लगाकर किसी कपड़े से बांध दें। यह प्रयोग दो दिन में ही आपको बालतोड़ से निजात दिला देगा।

सरसो के तेल में थोड़ी हल्दी मिलाकर हल्‍का गर्म करके बालतोड़ के फोड़े पर लगाने से जल्‍दी राहत मिलती है।

Reading Baltod Ke Phode ka Ilaj…

– पीपल की छाल को पानी के साथ पीस लें और उसे प्रभावित जगह पर लगाते रहें। कुछ ही दिन में फोड़ा ठीक हो जाएगा।

– एक-एक चम्‍मच सुहागा व मैदा लें और उसमें थोड़ा सा देशी घी डालकर आग पर हलवे जैसा पका लें। इसे रात को सोते समय पुल्टिस की तरह बालतोड़ वाली जगह पर लगाकर बांधकर सो जाएं। दो-तीन दिन में ही बालतोड़ ठीक हो जाएगा।

– थोड़ी सी रूई लेकर मैदा में उसे पंद्रह-बीस मिनट तक भिगो दें। इसके बाद रूई को निचोड़कर बालतोड़ वाली जगह पर बांध दें। दो-तीन दिनों में बालतोड़ ठीक हो जाएगा।

मेंहदी पीसकर बालतोड़ पर सुबह-शाम लगाने से भी बालतोड़ ठीक हो जाता है।

– बालतोड़ यदि पूरी तरह पक गया तो उसे हल्‍का दबाकर उसकी कील निकाल दें और वहां हल्‍दी लगा दें। इससे भी बालतोड़ से निजात मिल जाती है।

Keywords – Baltod ka Phoda, Baltod ke Phode ka upchar