आप थोड़ा अतीत में लौटे। किसी ऐसे दिन को याद करें जिसके पूर्व रात को आपको अच्छी और गहरी नींद नहीं आई हो। वह दिन बोझिल रहा होगा। पूरे दिन थकान रही होगी। किसी काम में मन नहीं लगा होगा और जब दिन में सोने का प्रयास किए होंगे तो वह भी नहीं हुआ होगा। ऐसा ही होता है जब नींद पूरी नहीं होती है। पूरे शरीर में अव्‍यवस्‍था उत्‍पन्‍न हो जाती है। यदि यह स्थिति बार-बार आती है तो आपको बीमार होने में ज़्यादा दिन नहीं लगेंगे।

अच्छी और गहरी नींद हमारे स्‍वास्‍थ्‍य की सच्‍ची साथी है। यदि नींद पूरी नहीं आ रही है तो तत्‍काल किसी योग्‍य चिकित्‍सक से परामर्श करना चाहिए। एक बात और बता दें कि नींद के पूरा होने का कोई संबंध घंटा से नहीं है कि इतने घंटे सो लिए तो नींद पूरी हो जाएगी। कभी-कभी यह चार-पांच घंटे में पूरी होती है और कभी-कभी छह-सात घंटे में। नींद पूरी होने का लक्षण यह है कि आप सुबह उठने के बाद तर-ओ-ताज़ा महसूस करेंगे। मन प्रसन्‍न रहेगा, नींद नहीं पूरी होगी तो चेहरे व मन पर उदासी छायी रहेगी। दिन भर शरीर बोझिल रहेगा और जंभाई आती रहेगी।

अच्छी और गहरी नींद

यदि तीन सप्‍ताह तक नींद नहीं आती है तो इस अवस्‍था को ट्रांजियंट इनसोम्निया कहते हैं। इसका मुख्य कारण मानसिक तनाव,  नई जगह या बदला वातावरण, सदमा, प्रियजनों की मृत्‍यु या व्‍यापार में कोई बड़ा घाटा, तलाक या नौकरी से संबंधित परेशानी हो सकती है। यह अवस्‍था कुछ दिनों के लिए होती है फिर ठीक हो जाती है। यदि यह बनी रहे तो तत्‍काल किसी योग्‍य चिकित्‍सक से परामर्श ले लेना चाहिए। यदि नींद नहीं आती है या कम आती है तो आपके लिए हम कुछ जरूरी उपाय बता रहे हैं, इसका उपयोग कर आप अपनी इस समस्‍या से निजात पा सकते हैं।

अच्छी और गहरी नींद पाने के उपाय

– साफ़-सफ़ाई पर विशेष ध्‍यान दें। ख़ासकर जहां सोते हैं वह कमरा बिल्‍कुल स्‍वच्‍छ व हवादार होना चाहिए।

– ऐसी व्‍यवस्‍था करें कि जब आप सोयें तो किसी प्रकार की आवाज़ वहां न आए।

– ऊंची तकिया न लगाएं और सोने के लिए मुलायम गद्दे का इस्‍तेमाल करें।

– तनाव मुक्‍त रहें। इसके लिए योगासान या ध्‍यान आपकी मदद कर सकते हैं या सोते समय भगवान या गुरु का स्‍मरण करते हुए सो जाएं।

– सोने के समय में व्‍युत्‍क्रम नहीं होना चाहिए कि आज रात दस बजे सोएं और दूसरे दिन रात के बारह बज गए। सोने का समय निर्धारित होना चाहिए और जल्‍दी सो जाना चाहिए।

– छह से सात घंटे यदि नींद आप लेते हैं तो आपका स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहेगा। नींद इससे कम घंटे में भी पूरी हो सकती है। कुल मामला नींद पूरा होने से है।

– कोशिश करें कि दिन में न सोएं। दिन में सो जाने से रात को नींद अच्‍छी नहीं आती है।

– सोते समय सिर व पैर की तेल से मालिश करने से अच्‍छी नींद आती है।

– सोते समय सकारात्‍मक विचार रखें, किसी प्रकार की दुश्चिंता से मुक्‍त रहें। इसके लिए सोने के समय शवासन कर सकते हैं।

– देर रात तक टीबी सीरियल या फ़िल्‍म देखने से बचें। रात को सोने व सुबह उठने का समय निश्चित होना चाहिए।