पुरुष जननांग या लिंग आकार को बढ़ाने के लिए तमाम कंपनियों के विज्ञापन विविध माध्‍यमों से सामने आ रहे हैं। पोर्न फ़िल्‍मों को देखकर उनमें एक हीन भावना भर सकती है कि मेरा जननांग पर्याप्‍त बड़ा नहीं है और शायद मैं अपनी साथी को पूरी तरह संतुष्‍ट नहीं कर पाता हूं। यह भावना उन्‍हें तमाम ऐसे उत्‍पादों की तरफ़ ले जाती है जो भविष्‍य में उन्‍हें नुक़सान पहुंचा सकते हैं। जो पकृति प्रदत्‍त वस्तुएं हैं उन्‍हें औषधि से बड़ा या छोटा नहीं किया जा सकता। हां कुछ प्रयोग कर उन्‍हें स्‍वस्‍थ व विकसित किया जा सकता है। यह लेख आज इसी के बारे में आपको विस्‍तार से जानकारी देगा।

पुरुष जननांग का आकार बढ़ाना
Penis enlargement

सर्जरी से पुरुष जननांग का आकार बढ़ाना

इंटरनेट व एंड्रायड मोबाइल के चलते आजकल सेक्‍स से संबंधित चीजें बहुत आसानी से सुलभ है। पोर्न वेबसाइट्स ने युवाओं को काफ़ी आकर्षित किया है। जो युवा इसके आदती हो जाते हैं, उन्‍हें पोर्न फिल्‍में देखकर यह लग सकता है कि उनका लिंग अपेक्षाकृत काफ़ी छोटा है और उनके मन में यह शंका उत्‍पन्‍न हो सकती है कि वे अपने महिला साथी को पूरी तरह संतुष्‍ट कर पाएंगे या नहीं। यह भी एक तरह की बीमारी है जिसे पेनाइल दिसमोर्फिक Penail Dismorfik कहते हैं। इसका इलाज मनोचिकित्‍सकों के पास है। कुछ युवा या पुरुष सर्जरी कराकर लिंग को लंबा करवाते हैं, लेकिन उन्‍हें भी संतुष्‍ट नहीं देखा गया है। इनमें से ज़्यादातर लोग पेनाइल दिसमोर्फिक के शिकार हो जाते हैं।

लिंग का आकार बढ़ाने के पीछे का सच

सड़क व चौराहों पर लगे बैनर, पोस्‍टर व अन्‍य प्रचार माध्‍यमों से लेकर पोर्न वेबसाइट् तक पर लिंग को लंबा करने, कठोर करने, मर्दाना ताकत बढ़ाने, सेक्‍स क्षमता में वृद्धि करने आदि की दवाओं के विज्ञापन प्रचुर मात्रा में देखे जाते हैं। ये विज्ञापन लोगों को बहुत आकर्षित करते हैं। किसी को भी लग सकता है कि कहीं उसका जननांग छोटा तो नहीं, कहीं उसकी पौरुष शक्ति अपेक्षाकृत कम तो नहीं है और वे ऐसे विज्ञापनों के चक्‍कर में आ जाते हैं और अपनी गाढ़ी कमाई गवां देते हैं। न तो जननांग बड़ा होता है और न ही पौरुष शक्ति बढ़ती है बल्कि कुछ और बीमारियां वहीं से जन्‍म ले सकती हैं।

कुछ लोग यह दावा करते हैं कि पुरुष जननांग को बढ़ाने की उनके पास अच्‍छी तकनीक है, अंतत: वह खोखला ही साबित होता है। कुछ लोग जो सर्जरी के माध्‍यम से लिंग बढ़ाने की कोशिश करते हैं वह लंबे समय तक सर्जरी के दर्द को भोगते हैं। कुछ लोग उसे कृत्रिम साधनों जैसे खींच कर लिंग बढ़ाने की कोशिश करते हैं वे इसे दुष्‍प्रभावों से भी पीड़ित होते हैं। किसी-किसी को तो यह दर्द आजीवन सताता रहता है। इसलिए ये सब लोगों को वेवकूफ बनाकर अपना धंधा चलाने के अलावा कुछ नहीं है। इससे बचना चाहिए और यदि कोई सचमुच समस्‍या है तो किसी योग्‍य वैद्य अथवा चिकित्‍सक से परामर्श लेना चाहिए।

पुरुष लिंग की औसत लंबाई

कुछ लोगों को यह भ्रम होता है कि पुरुष जननांग लंबा होगा तो सेक्‍स में संतुष्‍टि ज़्यादा मिलेगी, यह सिर्फ़ उनका भ्रम है, सेक्‍स संतुष्टि का कोई संबंध जननांग के लंबे या छोटे होने से नहीं होता है। भारत में लिंग की औसत लंबाई पांच से छह इंच होती है। जब लिंग सुप्‍त अवस्‍था में रहता है तो उसकी लंबाई तीन से साढ़े तीन इंच तक होती है। कई मामलों में इससे भी छोटा दिखने वाला जननांग उत्‍तेजना के बाद पांच से छह इंच की लंबाई में आ जाता है।

लिंग का आकार बढ़ाने के प्राकृतिक उपाय

– यदि किसी को यह हीन भावना घर गई हो तो वे निराश न हो, पुरुष जननांग की लंबाई प्राकृतिक तरीके बढ़ाई जा सकती है। ज़्यादा फैट व कैलोरी वाले भोजन लेने से बचें, इससे दिल की बीमारी के साथ ही पुरुष जननांग के छोटे होने का भी खतरा रहता है।

– यदि शारीरिक व्‍यायाम कम हो तो कोलेस्‍ट्राल बढ़ने का खतरा रहता है, इससे पुरुष जननांग में रक्‍त संचार कम हो सकता है। इसलिए जंक फूड से परहेज करना चाहिए ताकि आपका जननांग स्‍वस्‍थ व पुष्‍ट रह सके।

– ऐसे फल व सब्जियों का सेवन करें जिनमें एंटी ऑक्‍सीडेंट ज़्यादा मिलते हों। यह धमनियों में मौजूद फ्री रेडिकल से लड़ता है और धमनियों को मजबूत बनाता है।

– मोटापे को कम करने के साथ ही धूम्रपान, तंबाकू आदि का सेवन न करें, ये धमिनयों को ब्‍लाक कर देते हैं और शरीर के सभी हिस्‍सों में रक्‍त ज़रूरत के मुताबिक पहुंच नहीं पाता है। शरीर के जिस हिस्‍से में रक्‍त संचार कम होगा उस हिस्‍से का विकास अपेक्षित नहीं होगा।

– जिम जाने से धमिनयों का रास्‍ता साफ होता है। ध्‍यान से भी शरीर में रक्‍त संचार बढ़ता है, इससे पुरुष जननांग के आकार में भी वृद्धि संभव है।

– कोशिश करें कि तनाव से मुक्‍त रहें, तनाव सेक्‍स पावर को कम करता है।

loading...